योग निद्रा के है कमाल के फायदे, मिलते है कई स्वास्थ्य लाभ!

Need help? Call +91 95581 28414

Need help? +91 95581 28414

Need help? Call +91 95581 28414

जानिए योग निद्रा के महत्वपूर्ण फायदे और करने का सही तरीका !

Posted on Apr 05, 2022
जानिए योग निद्रा के महत्वपूर्ण फायदे और करने का सही तरीका !
Share this blog

योग निद्रा के महत्वपूर्ण फायदे-

पिछले कुछ वर्षों में मनुष्य के जीवनशैली में बहुत परिवर्तन आया है। मनुष्य प्रतिस्पर्धात्मक हो गया है तथा भौतिक सम्पन्नता उसके जीवन का लक्ष्य बन गया है। इस कारण उसके आंतरिक और बाह्य जीवन में असमंजस्यता की स्थिति पैदा हो गयी है और वह शारीरिक तथा मानसिक रूप से असंतुलित हो गया है।

योग निद्रा शरीर और मन को तनाव से मुक्त करने का तथा जीवन में समन्वय लाने का एक प्रभावशाली तकनीक है। आमतौर पर इंसान या तो सोता है या फिर जागता है परन्तु योग निद्रा के अभ्यास में व्यक्ति जागृत होते हुए भी सोता है। यह जागने तथा सोने के बीच की अवस्था है जिसमे व्याकृ की चेतना उसकी सजगता के गहरे स्तर पर कार्य करती है। इससे न केवल मन की ग्रहणशीलता बढ़ जाती है बल्कि शरीर और मन को पूर्णतयः आराम मिलता है।

कैसे करे योगनिद्रा, इसे करने का सही तरीका

योगनिद्रा के अभ्यास को पीठ के बल लेटकर शवासन की स्थिति में किया जाता है। पहले पुरे शरीरर को पूर्णरूपेण शिथिल किया जाता है, फिर सांस के प्रति सजग बन कर मन को स्थिर व शांत किया जाता है। इसके उपरांत एक सकारात्मक संकल्प का बीजारोपण किया जाता है। यह संकल्प जीवन में कुछ करने की एक दृढ प्रतिज्ञा है जो स्वास्थ्य लाभ तथा उच्चतर उद्धेश्यों की प्राप्ति के लिए किया जाता है। इसके बाद हम अपनी चेतना शरीर के विभिन्न अंगो की ओर एक खास क्रम में घूमते है। इससे न केवल शारीरिक विश्राम की प्राप्ति होती है बल्कि मानसिक विश्रांति का भी अनुभव होता है। इसके बाद सांस के प्रति सजग बना जाता है। इससे मन और भी ज्यादा शिथिल और एकाग्र बन जाता है।

सांस के प्रति एकाग्र होने के बाद हम भावनाओं और संवेदनाओं के प्रति सजग बनते है जो हमारे मस्तिष्क के हिस्सों को संतुलित करता है। इसके बाद मानस दर्शन किया जाता है जिससे अचेतन मन में निहित वस्तुएं चेतन मन में लायी जाती है और फिर व्यवधानों का निष्कासन किया जाता है। इससे मन पूर्णतया शुद्ध होकर ध्यान की स्थिति प्राप्त करती है जिससे मन में गहन शांति की अनुभूति होती है। अभ्यास के समाप्ति से पूर्व शुरू में लिए गए संकल्प को दोहराया जाता है जो हमारे दृष्टिकोण तथा व्यवहार को परिवर्तित करने में सहायक होता है। इसके बाद मन को जागृत स्थिति में लाया जाता है।

Read Also- Stress Relieving Benefits of Laughter Therapy, How to do this?

रोगों से छुटकारा पाने में योग निद्रा के फायदे-

विभिन्न रोगों के निदान में योग निद्रा का अभ्यास लाभकारी सिद्ध हुआ है। मानसिक रोगों के उपचार में यह विशेष रूप से लाभदायक है।

अनिद्रा, सिरदर्द से दिलाये राहत

anidra me yog nidra ke fayde

वैज्ञानिकों ने पाया है कि योग निद्रा के अभ्यास से नींद आने के व्यवधानों से मुक्ति प्राप्त किया जा सकता है, दर्द में कमी आती है तथा इन तकलीफों में प्रयोग किये जाने वाले औषधियों की आवश्यकताएं घट जाती है। शोधकर्ताओं ने पाया कि योग निद्रा के दौरान उत्तेजनशील अनुकंपी तंत्रिका तंत्र की क्रियाशीलता कम हो जाती है तथा परानुकंपी तंत्रिका तंत्र की क्रियाशीलता बढ़ जाती है। वैज्ञानिकों ने पाया कि अभ्यास के दौरान शरीर प्राकृतिक रूप से शक्तिशाली दर्द उन्मूलक रस को स्रावित करता है। एक शोध से यह ज्ञात हुआ की कई लोगों में योग निद्रा के अभ्यास से, सर में दर्द तथा मांसपेशियों से पीड़ित लोगों में औषधि की आवश्यकता समाप्त हो गयी। वो सिर्फ योग निद्रा के द्वारा ही इन समस्याओं से छुटकारा पा लिए।

इसे भी जरूर पढ़ें:- अर्जुन की छाल के है बहुत फायदे, जानिए सेवन करने का तरीका !

महिलाओं की मासिक धर्म संबंधी समस्याओं में उपयोगी

period me yog nidra ke fayde

महिलाओं में मासिक धर्म की अनियमितताएं तथा मासिक धर्म के शुरू होने से पहले और उसके दौरान होने वाली असहनीय पीड़ा में भी योग निद्रा महत्वपूर्ण भूमिला निभाता है। चिकित्सकों ने यह पाया की मासिक धर्म से जुडी समस्याएं जैसे सर दर्द, चक्कर आना, चिंता या चिड़चिड़ापन का अनुभव, पाचन संबधी व्यवधान का होना आदि योग निद्रा के 6 महीने के नियमित अभ्यास से नियंत्रण में लाया जा सकता है तथा मासिक धर्म को भी नियमित बनाया जा सकता है। चिकित्सकों ने पाया की इसके अभ्यास से पियूष ग्रंथि एंडोर्फिन तथा इन्सेफेलिन नामक रसायन को स्रावित करता है जो दर्द के निवारण में अहम् भूमिका निभाता है।

इसे भी जरूर पढ़ें:- जानिए विदारीकंद के 5 बेहतरीन फायदे !

मानसिक तनाव से दिलाये मुक्ति-

stress me yog nidra ke fayde

अधिक देर तक तनाव की स्थिति में रहने से पाचन की समस्या, सांस का तेज चलना, ह्रदय के धड़कन में वृद्धि, उच्च रक्तचाप जैसे लक्षण परिलक्षित होते है। योग निद्रा के अभ्यास से इन मानसिक रोगों में नियंत्रण आता है। एक शोध में पाया गया कि तीन सप्ताह के नियमित अभ्यास से सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर पारा के औसतन 20 मि.मी तथा डायस्टोलिक प्रेशर 10 मि.मी घट जाती है। कई लोगों में औषधि की मात्रा घटा दी गयी है। अतः अब कई चिकित्सा संस्थानों में उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए योग निद्रा का समावेश किया गया है।

इसे भी जरूर पढ़ें:- अशोक की छाल के गुण-धर्म, फायदे और नुकसान!

ह्रदय रोग में लाभकारी-

heart problems me yog nidra ke fayde

ह्रदय रोग विशेषज्ञों ने ह्रदय रोग से बचने के लिए योग निद्रा के अभ्यास की अनुशंसा (रेकमेंड) की है। इसके अभ्यास का असर मस्तिष्क के लिम्बिक केंद्र तथा ह्रदय की और जाने वाली नाड़ियों पर पड़ता है जो हृदय रोगियों को मानसिक शांति तथा भावनात्मक विश्राम प्रदान करता है। इसमें कोरोनरी वेस्पोस्पाज्म की पीड़ादायक स्थिति से छुटकारा मिलता है। अतः एन्जिना के दर्द को नियंत्रित करने का यह एक प्रभावशाली अभ्यास है।

इसे भी जरूर पढ़ें:- अशोक की छाल के गुण-धर्म, फायदे और नुकसान!

कैंसर रोग में लाभकारी-

cancer me yog nidra ke fayde

आज कल शल्यक्रिया, कीमोथेरेपी के साथ-साथ कैंसर के उपचार में भी योग निद्रा कराया जा रहा है ताकि जीवन से संबंधित नकारात्मक या कष्टदायक अनुभवों को अवचेतन मन से ऊपर लेकर उन्हें निकाला जा सके। इस तकनीक के द्वारा तनावों को दूर कर कैंसर को आगे बढ़ने से रोका जाता है। अभ्यास के दौरान प्राणिक ऊर्जा को भी जागृत कर इसे शरीर के अंगो की ओर घुमाया जाता है जो शरीर को स्वस्थ्य करता है।

योग निद्रा के अभ्यास में व्यक्ति नींद की स्थिति में भी सजग रहता। इस स्थिति में अवचेतन मन व अचेतन मन के बीच संपर्क स्थापित होता है। हमारी अचेतन मन मेमोरी का भंडार है जहां नकारात्मक और कष्टदायक अनुभव मौजूद रहते है और जिन्हे आसानी से चेतन स्थिति में नहीं लाता जा सकता है। अतः यह भय, क्रोध आदि स्थितियों को पैदा करता है। योग निद्रा के अभ्यास से हम इन नकारात्मक इच्छाओं को निकाल कर उनके द्वारा उत्पन्न हुए तनाव को दूर करते है जो हमे शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ्य करता है। 

इसे भी जरूर पढ़ें:- क्या है स्वप्नदोष (नाइटफॉल) की समस्या होने का कारण और इसे कैसे रोकें?

अतः अच्छे स्वास्थ्य को बनाये रखने हेतु हमें योग निद्रा का अभ्यास प्रतिदिन करना चाहिए !

तो दोस्तो, हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा? अगर अच्छा लगा, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी ज़रूर शेयर करें। ना जाने कौन-सी जानकारी किस ज़रूरतमंद के काम आ जाए हो सकता है इस जानकारी से किसी के समस्या का समाधान हो जाये। हम आपके लिए हेल्थ सम्बंधित और भी आर्टिकल लाते रहेंगे, धन्यवाद!!

(DISCLAIMER: This Site Is Not Intended To Provide Diagnosis, Treatment, Or Medical Advice. Products, Services, Information, And Other Content Provided On This Site, Including Information That May Be Provided On This Site Directly Or By Linking To Third-Party Websites Are Provided For Informational Purposes Only. Please Consult With A Physician Or Other Healthcare Professional Regarding Any Medical Or Health Related Diagnosis Or Treatment Options. The Results From The Products May Vary From Person To Person. Images shown here are for representation only, the actual product may differ.)