Get upto 20% off on purchase from our mobile app. Click here to download our app.

Need help? +91 95581 28414

Get upto 20% off on purchase from our mobile app. Click here to download our app.

महिलाओं को हो रही ओवेरियन सिस्ट की समस्या, जानिए लक्षण , कारण और उपाय

Posted on Oct 01, 2021
महिलाओं को हो रही ओवेरियन सिस्ट की समस्या, जानिए लक्षण , कारण और उपाय
Share this blog

ओवेरियन सिस्ट से छुटकारा पाने का घरेलू उपाय (Home Remedies to Get Rid of Ovarian Cyst):-

Home Remedies for Ovarian Cyst:- ओवरी (Ovary) को हिन्दी में अंडाशय कहा जाता है। ओवरी या अंडाशय महिलाओं की प्रजनन प्रणाली का हिस्सा होती है। यह गर्भाशय के दोनों तरफ निचले पेट में स्थित होते हैं। यह महिलाओं में प्रजनन का एक प्रमुख हिस्सा है। महिलाओं में ओवेरियन सिस्ट (अंडाशय में गांठ) होना सामान्य बात है। महिलाओं के शरीर में दो अंडाशय पाई जाते है। यह अंडाशय का कार्य दो प्रमुख तरह के हॉर्मोन बनाना है। ये अंडे एस्ट्रोजन और प्रेजोस्टेरॉन हॉर्मोन तैयार करने का कार्य करता है। जो गर्भावस्था के लिए बहुत जरुरी होता है।

महिलाओं में ओवेरियन सिस्ट (अंडाशय में गांठ) होना आम बात है। कभी न कभी उन्हें अपने जीवन में इस समस्या से गुजरना ही पड़ता है। महिलाओं में समय के साथ-साथ गर्भाशय से जुड़ी परेशानियां होने लगती हैं। जो प्राकृतिक रूप से माहवारी के समय होते हैं और कुछ दिनों बाद अपने आप ही ठीक हो जाते हैं। इससे कोई बीमारी नहीं होती है,यह सिस्ट रोगमुक्त है।

ओवेरियन सिस्ट क्या है? (What is an Ovarian Cyst)

ओवरी में सिस्ट होना महिलाओं के लिए आम समस्या है। सभी महिलाओं को अपने जीवन में कभी न कभी यह समस्या से गुजरना ही पड़ता है। ओवरी के भीतर में थैली समाई होती है जिसमे द्रव भरा होता है। महिलाओं के मासिक धर्म के दौरान प्रतिमाह इस थैली के आकार की एक संरचना उभर कर आती है, जिसको फोलिकल के नाम से जानी जाती है। यही फॉलिकल से एस्ट्रोजन और प्रेजोस्टेरॉन नामक हॉर्मोन निकलता है। कुछ मामलो में देखा गया है की मासिक धर्म की अवधि खत्म हो जाने के बाद भी फॉलिकल का आकर बढ़ता जाता है और जिसे "ओवेरियन सिस्ट" कहा जाता है। 

किन कारणों की वजह से ये समस्या उत्पन्न होती है?

महिलाओं के पीरियड्स के दौरान हर महीने थैली के आकर की सरंचना उभर कर आती है। जो फॉलिकल नाम से जानी जाती है। कई बार मासिक धर्म खत्म हो जाने के बाद भी फॉलिकल का आकार बढ़ता जाता है जिससे महिलाओं को दर्द होने लगता है। आमतौर पर ओवेरियन सिस्ट हानिकारक नहीं होते हैं और ज्यादातर खुद ही ठीक हो जाते हैं। परन्तु कई बार यदि सिस्ट ठीक नहीं हो पाते तो इनसे महिलाओं को काफी परेशानी होती है।

ओवेरियन सिस्ट के लक्षण (Symptoms of Ovarian Cyst):-

-> पेडू में दर्द

-> पीठ के निचले हिस्से और जांघों में दर्द

-> पेट में सूजन या पेट का फूला हुआ महसूस होना

-> स्तनों में दर्द

-> तेज-तेज सांस लेना।

->  सेक्स के दौरान दर्द

-> कब्ज होना

-> भूख न लगना

-> असामान्य पीरियड्स

-> पेशाब करते वक्त दर्द

-> थकान और कमजोरी महसूस होना

तो ये थे ओवेरियन सिस्ट के कारण और लक्षण अब आइये जानते है किस चीजों का अपने आहार में इस्तेमाल करके आप कुछ ही दिनों के अंदर ओवेरियन सिस्ट की समस्या से राहत पा सकते है। 

अदरक (Ginger):- अदरक एक शक्तिशाला मसाला के रूप में माना जाता है। जो दर्द और सूजन को दूर करने में मदद करता है। अदरक शरीर का तापमान बढ़ाने में काफी मदद करता है और पीरियड्स लाने में मदद कर सकता है। जिससे ओवरी की सिस्ट निकल सकती है।

अलसी के बीज (Flaxseed):- अलसी के बीज शरीर में एस्ट्रोजन के स्तर को संतुलित करने में मदद करता है। यह शरीर में हानिकारक पदार्थो को निकालने में मदद करता है।

बादाम (Almond):-  बादाम सिस्ट के लिए बहुत लाभकारी होता है। इसमें मैग्नीशियम की मात्रा अधिक होती है जिससे ओवेरियन के दर्द से राहत मिलती है। बादाम के तेल से पेट के आसपास की जगह पर मालिश भी कर सकते है। इसलिए बादाम का सेवन करना चाहिए। यह ओवरी के गठन को रोकने में भी मदद करता है।

पानी की मात्रा बढ़ाए (Increase the Amount of Water):-  पानी ज्यादा पीना वैसे भी बहुत अच्छी बात है। जब ओवरी में सिस्ट की समस्या होती है तब पानी का ज्यादा सेवन करना चाहिए। पानी पेट में दर्द और सूजन को कम करने में मदद करता है।

अरंडी का तेल (Castor Oil):- सबसे बड़े कपड़ो में अरंडी के तेल को पहले कोल्ड करले। अब इस कपड़े को अरंडी के तले में डूबो दें फिर इस कपड़े को पेट के निचले हिस्से में कवर करके गर्म पानी की बोतल को कपड़े के उपर रखकर सिकाई करे। ओवेरियन सिस्ट की समस्या  में अरंडी तेल का उपचार बहुत फायदेमंद होता है।

सेब का सिरका (Apple Vinegar):-  सेब का सिरका ओवेरियन सिस्ट में बहुत कारगर साबित होता है। क्योकि ओवेरियन सिस्ट शरीर में पोटेशियम की कमी के कारण होता है इसलिए सेब के सिरके का उपचार करने पर पोटेशियम की कमी को पूरा करता है। यह ओवरी सिस्ट के लिए सबसे अच्छे प्राकृतिक घरेलु उपायों में से एक है।

व्यायाम करे (Exercise):-  व्यायाम भी अंडाशय में गाठ पड़ने वाले दर्द को कम करने में मदद करता है। कई महिलाये व्यायाम करने पर भी यह समस्या से छुटकारा पा सकती है। नियमित रूप से व्यायाम करने पर सिस्ट बढ़ने से रुक सकती है।

तो दोस्तो, हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा? अगर अच्छा लगा, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी ज़रूर शेयर करें। न जाने कौन-सी जानकारी किस ज़रूरतमंद के काम आ जाए। साथ ही, अगर आप किसी ख़ास विषय या परेशानी पर आर्टिकल चाहते हैं, तो कमेंट बॉक्स में हमें ज़रूर बताएं। हम यथाशीघ्र आपके लिए उस विषय पर आर्टिकल लेकर आएंगे, धन्यवाद!!

(DISCLAIMER: This Site Is Not Intended To Provide Diagnosis, Treatment, Or Medical Advice. Products, Services, Information And Other Content Provided On This Site, Including Information That May, Be Provided On This Site Directly Or By Linking To Third-Party Websites Are Provided For Informational Purposes Only. Please Consult With A Physician Or Other Healthcare Professional Regarding Any Medical Or Health Related Diagnosis Or Treatment Options. The Results From The Products May Vary From Person To Person. Images shown here are for representation only, the actual product may differ.)