Need help? Call +91 95581 28414

Need help? +91 95581 28414

Need help? Call +91 95581 28414

जानिए सफेद मुसली के फायदे पुरुषों की यौन समस्या के लिए रामबाण है ये औषधि !

Posted on Sep 30, 2021
जानिए सफेद मुसली के फायदे पुरुषों की यौन समस्या के लिए रामबाण है ये औषधि !
Share this blog

जानिए सफेद मूसली के फायदे (Safed Musali ke Fayde)

Safed musali ke fayde:- भारत में बहुत पुराने समय से आयुर्वेदिक जड़ीबूटियों का इस्तेमाल किया जा रहा है। आयुर्वेदिक जड़ीबूटियां भले ही थोड़े देर से असर करती है पर इनका प्रभाव स्थायी होता है। आयुर्वेद में कई प्रकार की जड़ी बूटियां हैं और उन्हीं में से एक है सफेद मूसली पौधा। सफेद मूसली एक ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसे हम पावर जनरेटर भी (Safed musali ke fayde) कह सकते है। इसके औषधीय गुणों को देखते हुए अब बाज़ार में सफेद मूसली के पाउडर और कैप्सूल भी मिलने लगे हैं। सेक्स संबंधी समस्याओं में यह बहुत ज्यादा फायदेमंद है और कुछ जगहों पर इसे “हर्बल वियाग्रा”  के नाम से भी जाना जाता है। सफेद मुसली विटामिन, अल्कलॉइड, प्रोटीन, स्टेरॉयड, कार्बोहाइड्रेट और पॉलीसैकराइड्स से भरपूर होता है। यह पुरुषों में यौन समस्या के लिए मुख्यतः उपयोग किया जाता है। परन्तु इससे आप ये न समझे की यह यौन समस्या के उपचार तक ही सिमित है बल्कि यह अन्य कई प्रकार की गंभीर बीमारियों को दूर करने में भी उपयोगी है।

सफेद मूसली का परिचय तथा गुण धर्म (Introduction and properties of Safed Musli)

सफेद मूसली का अंग्रेजी नाम इंडियन स्पाइडर प्लांट तथा वैज्ञानिक नाम क्लोरोफाइटम बोरीविलियेनम (Chlorophytum borivilianum) है। यह पौधों के लिलियासी परिवार से संबंधित है। यह भारत का एक प्रसिद्ध औषधीय पौधा है और इसे भारतीय चिकित्सा पद्धति में ‘सफेद सोना’ व ‘दिव्य औषध’ के नाम से भी जाना जाता है। आयुर्वेद के अनुसार सफेद मूसली (safed musli ki jad ke fayde) की जड़ें सबसे ज्यादा गुणकारी होती हैं। ये जड़ें विटामिन और खनिजों का भंडार हैं। सफेद मूसली की जड़ों के अलावा इनके बीजों का इस्तेमाल भी प्रमुखता से किया जाता है। सफेद की जड़ों में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, सैपोनिंस जैसे पोषक तत्व और कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम आदि खनिज प्रमुखता से पाए जाते हैं।

सफेद मूसली के 10 बेहतरीन फायदे (Top 10 benefits of white Musali)

अभी तक ऊपर के पैराग्राफ में आपने पढ़ा की सफेद मूसली क्या है और इसकी विशेषता क्या है। सफेद मूसली मानव जीवनकाल में बहुत ही उपयोगी है। आयुर्वेदिक उपचार में इसका प्रयोग कई प्रकार की जटिल समस्याओ को हल करने के लिए बहुत सालो से चलता आ रहा है। तो आइये जानते है कुछ प्रमुख समस्याओं में सफेद मूसली के फायदे के बारे में-

मानसिक तनाव में फायदेमंद (Beneficial for mental stress)

एक शोध में पता चला कि सफेद मूसली की जड़ (safed musali ki jad ke stess me fayde) में एंटीस्ट्रेस और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाया जाता है। इसमें पाया जाने वाला एंटीस्ट्रेस गुण जहां एक ओर तनाव की स्थिति को कम करने में फायदेमंद हो सकता है, वहीं दूसरी ओर इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण का इस्तेमाल ऑक्सीडेटिव स्ट्रैस के से होने वाले विकारों के उपचार के लिए किया जा सकता है। 

सेक्स पावर बढ़ाने में उपयोगी (Increases sex power)

आयुर्वेद के विशेषज्ञों द्वारा किये गए एक शोध में पता चला कि सफेद मूसली  पाउडर में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो कामोत्तेजना बढ़ाने (Stamina badhane me safed musali ke fayde) के साथ-साथ टेस्टोस्टेरोन जैसे प्रभाव वाले सेक्स हार्मोन का स्तर बढ़ाने में मदद करते हैं. जिससे सेक्स ड्राइव संचालित होती है। यही कारण है कि सेक्स स्टैमिना बढ़ाने के लिए सफेद मूसली का उपयोग करना सही है।

शीघ्रपतन में फायदेमंद (Beneficial for premature ejaculation)

पुरुष अपने पार्टनर के साथ सम्भोग बनाते समय प्रेम के चरम सुख पे पहुंचने से पहले ही स्खलित हो जाता है जिसे शीघ्रपतन कहते है। ये समस्या पुरुषों में टेस्टेस्टोरेन हार्मोन के असंतुलित होने, ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन, प्रोलैक्टिन, और थायराइड हार्मोन विकारों के असामान्य हार्मोनल स्तर होने से तथा कमजोर और पतले स्पर्म की वजह से होता है श्वेत मूसली टेस्टेस्टोरेन हार्मोन को संतुलित तथा स्ट्रांग स्पर्म का निर्माण करता है जिससे शीघ्रपतन की समस्या से राहत मिलती है।

इसे भी जरूर पढ़ें:-  अनेक बीमारी की सर्वोत्तम औषधि है जानिए अश्वगंधा के फायदे !

प्राइवेट पार्ट में कमजोरी या कमजोर इरेक्शन (For the betterment of sappy erections):-

सम्भोग के दौरान लिंग में उत्तेजना या तनाव की कमी होना इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या कहलाती है। स्ट्रेस, डिप्रेशन या किसी लम्बे समय से चल रहे बीमारी की वजह से यह समस्या किसी को भी हो सकती है। सफेद मूसली सेक्स की इच्छा को बढ़ाती है साथ ही यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या को भी ठीक करने में मदद करती है।

मांशपेशियों  के निर्माण में मददगार (To build stronger muscles)

जब इंसान को प्रचुर मात्रा में विटामिन्स मिलते है तो उनमे मांशपेशियों का निर्माण होता है। सफेद मूसली में मौजूद एथेनोलिक अर्क, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, सैपोनिंस जैसे पोषक तत्व तेजी से आपके मांशपेशियों का निर्माण करते है जिससे शरीर सेहतमंद तथा मजबूत होता है। 

Know More:  Ayurvedic medicine for gain weight

रोग प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है (Improves immunity system)

रोग प्रतिरक्षा यानि इम्युनिटी सिस्टम हमारे बॉडी का एंटी -वायरस होता है जो वॉयरस तथा बैक्टीरिया द्वारा होने वाले बिमारियों से हमारे शरीर की रक्षा करता है। ये रोग प्रतिरक्षा को बढ़ाता है और बिमारियों से लड़ने में मदद करता है। 

मधुमेह का इलाज करता है (Best remedy for diabetes)

सफ़ेद मुसली एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट है। इसका हाइपरग्लाइकेमिक प्रभाव ब्लड शुगर के स्तर का प्रबंधन करके मधुमेह के रोगियों के इलाज में उपयोगी है। लेकिन आयुर्वेद के अनुसार इस जड़ी बूटी का सेवन केवल पतले मधुमेह के रोगियों द्वारा किया जाना चाहिए।

आर्थराइटिस में फायदेमंद (Beneficial for arthritis)

उम्र बढ़ने के साथ साथ हड्डियों और जोड़ों में दर्द होना एक आम समस्या है। अपने देश में अधिकांश बुजुर्ग आर्थराइटिस की समस्या से पीड़ित रहते हैं। आयुर्वेद विशेषज्ञों का मानना है कि सफेद मूसली के सेवन से आर्थराइटिस में होने वाले जोड़ों के दर्द और सूजन से आराम मिलता है।

इसे भी जरूर पढ़ें:- मुलेठी के इन विशेषताओं से है अनजान? जानिए अच्छे स्वास्थ्य के लिए मुलेठी के फायदे !

मूत्र संबंधी रोगों से बचाव (Prevents from urine related problems)

पेशाब करते समय तेज जलन होना या बार बार पेशाब होने जैसी समस्या को आप नजरअंदाज नहीं कर सकते सफेद मूसली इससे राहत दिलाने में बहुत ही कारगर होता है। इसके साथ ही जिन महिलाओं को ल्यूकोरिया या सफेद पानी की समस्या है उनके लिए भी सफेद मूसली बहुत फायदेमंद है।

गठिया में मददगार (Helpful in gouts)

सफ़ेद मुसली में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो जोड़ों के दर्द, गठिया और गठिया के इलाज में बहुत कुशल होते हैं। यह श्लेष द्रव के बनने को प्रभावित करता है और जोड़ों के क्षरण को रोकता है।

स्टैमिना बढाकर पौरुष शक्ति में सुधार लाने के लिए सफ़ेद मुसली, अश्वगंधा, शिलाजीत, शतावरी, कैंसर, अभ्रक भस्म, वांग भस्म, मकरध्वज जैसी 13 बेहतरीन गुणवत्ता वाली जड़ीबूटियों को उचित मात्रा में मिश्रित करके "बुल राइडर कैप्सूल" का निर्माण किया गया है। यह एक प्रीमियम आयुर्वेदिक उत्पाद है जो आरोग्य विभाग द्वारा प्रमाणित है तथा साथ ही इस कंपनी को GMP और ISO द्वारा स्वीकृत प्रदान किया गया है। इसके इस्तेमाल से आप अपनी सेक्सुअल स्टैमिना (Sexual stamina) को बिना किसी दुष्प्रभाव के बढ़ा सकते है और अपने दाम्पत्य जीवन के हर पल को एन्जॉय कर सकते है। 

Ayurvedic medicine for sex stamina

तो दोस्तो, हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा? अगर अच्छा लगा, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी ज़रूर शेयर करें। ना जाने कौन-सी जानकारी किस ज़रूरतमंद के काम आ जाए हो सकता है इस जानकारी से किसी के समस्या का समाधान हो जाये। हम आपके लिए हेल्थ सम्बंधित और भी आर्टिकल लाते रहेंगे, धन्यवाद!!

(DISCLAIMER: This Site Is Not Intended To Provide Diagnosis, Treatment Or Medical Advice. Products, Services, Information And Other Content Provided On This Site, Including Information That May Be Provided On This Site Directly Or By Linking To Third-Party Websites Are Provided For Informational Purposes Only. Please Consult With A Physician Or Other Healthcare Professional Regarding Any Medical Or Health Related Diagnosis Or Treatment Options. The Results From The Products May Vary From Person To Person. Images shown here are for representation only, actual product may differ.)