Get Upto 20% Instant discount Using
credit card / debit card / net banking

Stomach Problems

जानिए तिल के हैरान कर देने वाले फायदे

Posted on 23rd January 2021 | By AR Ayurveda

 

भारतीय खान-पान में तिल का बहुत ख़ास महत्व है। जहां एक तरफ सर्दियों के मौसम में बनने वाले तिल के लड्डू और तिल पपड़ी सबको पसंद होती है वहीं दूसरी तरफ इसे खाने से मिलने वाली ऊर्जा शरीर को सक्रीय रखने में मदद करती है। सर्दियों में सभी तिल का सेवन करने की सलाह देते है जबकि गर्मियों में इसे खाने से मना किया जाता है। जिसके पीछे एक विशेष कारण है। दरअसल यह काफी हैवी और गर्म होता है जो सर्दियों में स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है।

इसके अतिरिक्त इसमें प्रोटीन, कैल्शियम, बी-काम्प्लेक्स और कार्बोहाइड्रेट्स भी पाए जाते है जो स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभकारी होते है। तिल का सेवन करने से तनाव दूर होता है और मानसिक दुर्बलता भी नहीं होती। इसके अतिरिक्त इसमें कई सौंदर्य गुण भी पाए जाते है जो स्किन को खूबसूरत बनाए का काम करते है।

तिल में कई तरह के लवण जैसे कैल्शिेयम, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक और सेलेनियम होते हैं जो हृदय की मांसपेशि‍यों को सक्रिय रूप से काम करने में मदद करते हैं। तिल में डाइट्री प्रोटीन और एमिनो एसिड होता है जो बच्चों की हड्डियों के विकास को बढ़ावा देता है। इसके अलावा यह मांसपेशियों के लिए भी बहुत फायदेमंद है तिल के बीज छोटे, चपटे अंडाकार होते हैं जिनमें अखरोट जैसा स्वाद और एक नाजुक, लगभग अदृश्य करकरापन होता है। वे विभिन्न रंगों में पाए जाते हैं, जो विविधता पर निर्भर करता है, जिसमें सफेद, पीले, काले और लाल शामिल हैं। वे एशियाई व्यंजनों में व्यापक रूप से उपयोग किए जाते हैं। तो चलिए जानते हैं कि आखिर कैसे आप इसका सेवन करके बहुत सारे फायदे होते हैं।

Sesame

तिल के फायदे (Benefits of sesame):

बालों के लिए फायदेमंद (beneficial for hair)

अगर आप तिल के बीजों का उपयोग करते हैं तो इससे बालों के झड़ने की समस्या कम हो जाती है। तिल के बीज बालों की जड़ों को मजबूत बनाते हैं। बीज में मौजूद ओमेगा फैटी एसिड बालों के विकास को बढ़ावा देने में मदद करता है और बालों की मरम्मत करता है। तिल के बीज मॉइस्चराइजिंग करने में भी मदद कर सकते हैं।

स्किन के लिए फायदेमंद (beneficial for skin)

तिल के बीच में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जिससे आपकी स्किन को बहुत सारे फायदे होते हैं। तिल के बीज त्वचा को नरम और कोमल बनाए रहने में मदद करते हैं। ऐसे में अगर आपकी स्किन में किसी तरह की समस्या है तो ऐसे में एक बड़ा चम्मच जैतून का तेल और दो चम्मच पाउडर तिल मिलाकर स्किन पर लगा सकते हैं, इससे आपको बहुत फायदे होंगे।

पाचन के लिए फायदे (Benefits for digestion)

काले तिल के बीज में हाई फाइबर होती है और इसमें असंतृप्त फैटी एसिड सामग्री होते हैं जिसकी वजह से आपको कब्ज में बहुत राहत मिलती है। तिल के बीज में पाया जाने वाला तेल आपकी आंतों को चिकनाई दे सकता है, जबकि बीज में फाइबर चिकनी मल त्याग में मदद करता है।

ब्लड प्रेशर के लिए अच्छा (Good for blood pressure)

तिल के बीज मैग्नीशियम से भरपूर होते हैं जो हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखने में मददगार हो सकते हैं। तिल के तेल में मौजूद यौगिक सेसमिन और पॉलीअनसेचुरेटेड वसा रक्तचाप के स्तर को नॉर्मल रखने में मददगार हो सकते हैं। रोजाना अपनी डाइट में तिल को शामिल कर हेल्दी ब्लड प्रेशर को बढ़ावा दे सकते हैं।

बवासीर (Piles)

तिल का नियमित रूप से सेवन करने से पुराने से पुराना बवासीर ठीक हो जाता है। बवासीर की समस्या होने पर रोजाना 2 चम्मच काले तिल को चबा-चबा कर खाएं। और उसके बाद ठंडा पानी पियें।

एंटी बैक्टीरियल गुण (Anti Bacterial Properties)

तिल में एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते है, जो किसी भी प्रकार के घाव और चोट को जल्द से जल्द ठीक करने की क्षमता रखता है। इसके अतिरिक्त यह सूजन को कम करके सोराइसिस और एक्जिमा जैसी त्वचा संबंधी बिमारियों को भी दूर करने में मदद करता है। आप तिल का इस्तेमाल जलने पर भी कर सकते है। प्रयोग के लिए जले हुए स्थान पर देसी घी और कपूर के साथ तिल को मिलाकर लगाएं।

तिल के बीज के अन्य फायदे (Other Benefits Of Sesame Seeds)

  • कब्ज की समस्या में तिल बहुत लाभकारी होता है। इसके लिए 50 ग्राम तिल भूनकर उसे कूट लें और चीनी मिलाकर इसका सेवन करें। यह आपकी कब्ज दूर करने में मदद करेगा।
  • खांसी आने पर तिल का सेवन करने से खांसी ठीक हो जाती है। इसके लिए तिल और मिश्री को पानी में उबालकर पीएं। यह सुखी खांसी के लिए बेस्ट घरेलू उपचार है।
  • पेट में दर्द होने पर एक चम्मच काले तिल चबाएं और गुनगुना पानी पि लें। पेट दर्द ठीक हो जाएगा।
  • तिल को पीसकर उसे मक्खन के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाने से फेस पर ग्लो आता है।
  • मुहांसे की समस्या में चेहरे पर तिल को पीसकर मक्खन के साथ मिलायें और मुहांसों पर लगाएं। इसके साथ साथ कील आदि की समस्या भी दूर हो जाएगी।

 

तो दोस्तो, हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा? अगर अच्छा लगा, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी ज़रूर शेयर करें। न जाने कौन-सी जानकारी किस ज़रूरतमंद के काम आ जाए। साथ ही, अगर आप किसी ख़ास विषय या परेशानी पर आर्टिकल चाहते हैं, तो कमेंट बॉक्स में हमें ज़रूर बताएं। हम यथाशीघ्र आपके लिए उस विषय पर आर्टिकल लेकर आएंगे, धन्यवाद!!

(DISCLAIMER: This Site Is Not Intended To Provide Diagnosis, Treatment Or Medical Advice. Products, Services, Information And Other Content Provided On This Site, Including Information That May Be Provided On This Site Directly Or By Linking To Third-Party Websites Are Provided For Informational Purposes Only. Please Consult With A Physician Or Other Healthcare Professional Regarding Any Medical Or Health Related Diagnosis Or Treatment Options. The Results From The Products May Vary From Person To Person. Images shown here are for representation only, actual product may differ.)


No Comments yet

Related Product

25 % OFF ayurvedic solution for stomach problems